-->

Surah Qariah in Hindi PDF | Surah Qariah Benefits in Hindi

Surah Qariah in Hindi मक्की सूरह है और इसमें 11 आयतें हैं। कुरान में यह सूरह क़ारिया के नाम से 30वें पारा में मौजूद है। यह Surah Qariah 101वीं सूरह है।

इस अध्याय का नाम इसके पहले शब्द "क़ारिया" से लिया गया है, अंत समय और युगांतशास्त्र के कुरानिक दृष्टिकोण का जिक्र करते हुए।

Surah Qariah in Hindi

"क़ारियाह" का अनुवाद विपत्ति, प्रहार, विपत्ति और कर्कश के रूप में किया गया है। इब्न कथिर के अनुसार, एक परंपरावादी व्याख्या, अल-क़रिया, अल-हक्का, अत-तम्मा, अस-सखखाह ​​और अन्य जैसे निर्णय के दिन के नामों में से एक है।

Surah Al-Qariah in Hindi me Tarjuma Saath


बिस्मिल्लाह-हिर्रहमान-निर्रहीम
अल्लाह के नाम से, जो बड़ा मेहरबान निहायत रहम बाला है।
 
1. अल क़ारिअह
सबको खड़ खड़ा देने वाला हादसा,

2. मल क़ारिअह
वो खड़खड़ा देने वाला हादसा क्या होगा

3. वमा अदराक मल क़ारिअह
और तुम को क्या खबर ,वो खड़खड़ा देने वाला हादसा क्या होगा

4. यौमा यकूनुन नासु कल फ़राशिल मब्सूस
जिस दिन इंसान बिखरे हुए परवानों की तरह होंगे

5. व तकूनुल जिबालु कल इहनिल मन्फूश
और पहाड़ धूनी हुई रूई की तरह हो जाएंगे

6. फ़ अम्मा मन सकुलत मवाज़ीनुह
तो जिसके नेक अमाल तराज़ू पर भारी होंगे

7. फ़हुवा फ़ी ईशतिर राज़ियह
वो ऐश में राज़ी और खुश होगा

8. व अम्मा मन खफ्फत मवाज़ीनुह
और जिसके अमाल तराज़ू पर काम होंगे

9. फ़ उम्मुहू हावियह
तो उसका ठिकाना हाविया का गड्ढा होगा

10. वमा अदराक मा हियह
आप को क्या मालूम कि हविया क्या चीज़ है

11. नारून हामियह
वो भड़कती हुई तेज आंच का लावा है

9. फ़ी अमादिम मुमद ददह
वो (आग के) लम्बे लम्बे खम्भो में (घिरे हुयी होंगी)


यह भी पढ़ें:- Surah Takasur Hindi Me

Surah Al-Qariah Hindi Image


Surah Al-Qariah Hindi Image

Surah Al-Qariah in Hindi Pdf Download


मेरे प्यारे दीनी भाइयों और बहनों जैसा की आपने ऊपर सूरह क़ारिया को हिंदी में तर्जुमा के साथ  पढ़ा ही होगा। साथ ही साथ आपने Surah Al-Qariah की Hindi Image भी देखी होंगी।

यहाँ हमने Surah Al Qariah Hindi Pdf उपलब्ध करायी है आप आसानी के साथ सूरह क़ारिया की पीडीऍफ़ को डाउनलोड कर सकते है।

Surah Qariah in English with Transliteration


Bismillaahir Rahmaanir Raheem
In the name of God, the Most Gracious, the Most Merciful

Al qariah
1. The Striking Calamity –

Mal Qariah
2. What is the Striking Calamity?

Wama adraka mal qariah
3. And what can make you know what is the Striking Calamity?

Yauma ya koonun naasu kal farashil mabthooth
4. It is the Day when people will be like moths, dispersed,

Wa ta koonul jibalu kal ‘ihnil manfoosh
5. And the mountains will be like wool, fluffed up.

Fa-amma man saqulat mawa zeenuh
6. Then as for one whose scales are heavy [with good deeds],

Fahuwa fee ‘ishatir raadiyah
7. He will be in a pleasant life.

Wa amma man khaffat mawa zeenuh
8. But as for one whose scales are light,

Fa-ummuhu haawiyah
9. His refuge will be an abyss.

Wa maa adraaka maa hiyah
10. And what can make you know what that is?

Naarun hamiyah
11. It is a Fire, intensely hot.

Surah Qariah  English Image


Surah Qariah  English Image

Surah Qariah in English Pdf Download


मेरे प्यारे दीनी भाइयों और बहनों जैसा की आपने ऊपर सूरह क़ारिया को इंग्लिश में तर्जुमा के साथ  पढ़ा ही होगा। साथ ही साथ आपने Surah Al-Qariah की English Image भी देखी होंगी।

यहाँ हमने Surah Al Qariah English Pdf उपलब्ध करायी है आप आसानी के साथ सूरह क़ारिया की पीडीऍफ़ को डाउनलोड कर सकते है।


यह भी पढ़ें:- Surah Yaseen in English Pdf

Surah Qariah Arabic with Urdu Tarjuma



بِسْمِ ٱللَّهِ ٱلرَّحْمَٰنِ ٱلرَّحِيمِ‎
شُروع اَللہ کے پاک نام سے جو بڑا مہر بان نہايت رحم والا ہے

بٱلْقَارِعَةُ
کھڑ کھڑانے والی

مَا ٱلْقَارِعَةُ
کھڑ کھڑانے والی کیا ہے؟

وَمَآ أَدْرَىٰكَ مَا ٱلْقَارِعَةُ
اور تم کیا جانوں کھڑ کھڑانے والی کیا ہے؟

يَوْمَ يَكُونُ ٱلنَّاسُ كَٱلْفَرَاشِ ٱلْمَبْثُوثِ
(وہ قیامت ہے) جس دن لوگ ایسے ہوں گے جیسے بکھرے ہوئے پتنگے

وَتَكُونُ ٱلْجِبَالُ كَٱلْعِهْنِ ٱلْمَنفُوشِ
اور پہاڑ ایسے ہو جائیں گے جیسے دھنکی ہوئی رنگ برنگ کی اون

فَأَمَّا مَن ثَقُلَتْ مَوَٰزِينُهُۥ
تو جس کے (اعمال کے) وزن بھاری نکلیں گے

فَهُوَ فِى عِيشَةٍ رَّاضِيَةٍ
وہ دل پسند عیش میں ہو گا

وَأَمَّا مَنْ خَفَّتْ مَوَٰزِينُهُۥ
اور جس کے وزن ہلکے نکلیں گے

فَأُمُّهُۥ هَاوِيَةٌ
اس کا مرجع ہاویہ ہے

وَمَآ أَدْرَىٰكَ مَا هِيَهْ
اور تم کیا سمجھے کہ ہاویہ کیا چیز ہے؟

نَارٌ حَامِيَةٌۢ
دہکتی ہوئی آگ ہے

Surah Qariah in Arabic Image


Surah Qariah in Arabic Image

Surah Qariah in Arabic Pdf Download


मेरे प्यारे दीनी भाइयों और बहनों जैसा की आपने ऊपर सूरह क़ारिया को अरबी में तर्जुमा के साथ पढ़ा ही होगा। साथ ही साथ आपने Surah Qariah की Arabic Image भी देखी होंगी।

यहाँ हमने Surah Al Qariah Arabi Pdf उपलब्ध करायी है आप आसानी के साथ सूरह क़ारिया की पीडीऍफ़ को डाउनलोड कर सकते है।


Surah Al-Qariah Mp3 or Audio File Download


मेरे प्यारे भाइयों और बहनों जैसा की आपने इस पोस्ट में सूरह क़ारिया को सभी भाषाओं में टेक्स्ट और इमेजेज के जरिये पढ़ा ही होगा।

लेकिन अगर आप सूरह सुनना पसंद करते है, जिससे आपने दिल और दिमाग को आराम मिलता है।

उसके लिये हमने नीचे सूरह क़ारिया की Mp3 फाइल डाउनलोड  करने का लिंक दिया है। यहाँ से आप आसानी के साथ Surah Qariah Ki Mp3 को डाउनलोड कर सकते हो।


Surah Qariah Tafseer Hindi Me (सूरह अल क़ारिअह तशरीह हिंदी में)


1: सूरए "अल कारिअह" मक्किय्या है। इस में एक रुकूअ, आठ आयतें, छत्तीस कलिमे, एक सो बावन हर्फ़ हैं।

2: मुराद इस से कियामत है जिस की होल व हैबत से दिल दहलेंगे और "कारिअह" कियामत के नामों से एक नाम है।

3 : या'नी जिस तरह पतंगे शो'ले पर गिरने के वक्त मुन्तशिर होते हैं और उन के लिये कोई एक जिहत मुअय्यन नहीं होती हर एक दूसरे के ख़िलाफ़ जिहत से जाता है, येही हाल रोजे कियामत खल्क के इन्तिशार का होगा।

4 : जिस के अज्जा मुतफ़र्रिक हो कर उड़ते हैं, येही हाल क़ियामत के होल व दहशत से पहाड़ों का होगा।

5 : और वज़्न दार अमल या'नी नेकियां जियादा हुई

6 : या'नी जन्नत में। मोमिन की नेकियां अच्छी सूरत में ला कर मीज़ान में रखी जाएंगी तो अगर वोह गालिब हुई तो उस के लिये जन्नत है और काफ़िर की बुराइयां बद तरीन सूरत में ला कर मीज़ान में रखी जाएंगी और तोल हलकी पड़ेगी क्यूं कि कुफ्फ़ार के आ' माल बातिल हैं, उन का कुछ वज़्न नहीं, तो उन्हें जहन्नम में दाखिल किया जाएगा।

7: ब सबब इसके कि वोह बातिल का इत्तिबाआ करता था

8 : या'नी उस का मस्कन आतशे दोज़ख़ है।

9 : जिस में इन्तिहा की सोज़िश व तेज़ी है। अल्लाह तआला उस से पनाह में रखे।

10 : या'नी रोज़े कियामत जो फैसले का दिन है।

11 : जैसी कि हमेशा है, तो उन्हें आ' माले नेक व बद का बदला देगा। 

5 Surah Qariah Benefits in Hindi (सूरह कारियाह के फायदे)

1. केवल हमारे अच्छे कर्म ही हमें बचा सकते हैं

दुनिया अंततः समाप्त होने जा रही है जिसका अर्थ है कि हमारे पास अपने कर्मों की भरपाई करने के लिए और समय नहीं होगा। उस दिन के लिए अपने तराजू को भारी बनाने पर ध्यान केंद्रित करने का यह हमारा एकमात्र समय है।

इसे पछतावे का दिन भी कहा जाता है, जिसका अर्थ है कि हम सभी पछताएंगे और उस समय को याद करेंगे जब हमारे पास नेकियों को बढ़ाने का मौका और समय था। सभी को पछताना पड़ेगा।

अगर उन्होंने एक और अच्छा काम किया होता, तो यह उन्हें नरक की आग से बचा लेता या जन्नत में उनकी रैंक बढ़ा देता।

हमारे लिए सबक यह है कि खुद को पछताने से बचाने के लिए हम इस दुनिया में समय का सदुपयोग करके अपना अखिरा बनाते हैं।

बेकार की गतिविधियों को छोड़ दें। प्रत्येक कार्य में अल्लाह का प्रतिफल प्राप्त करने की सोच विकसित करें। आपका दैनिक कार्य पूजा का कार्य हो सकता है। आप जो कुछ भी करते हैं उससे अल्लाह को प्रसन्न करने का इरादा रखें।

2. क़यामत का दिन अप्रत्याशित आएगा

अल्लाह SWT ने फैसले के दिन के विवरण में से एक के रूप में 'अल क़रीआह' शब्द का इस्तेमाल किया। यदि शाब्दिक अर्थ में उपयोग किया जाता है तो इसका मतलब है कि यह अप्रत्याशित रात के मेहमानों की तरह होगा जो आपको तब मिलता है जब आप उनके लिए तैयार नहीं होते हैं।

उसी तरह अल क़रियाह का दिन इतना अप्रत्याशित होगा कि जब आएगा तो आप हैरान रह जाएंगे।

तेज आवाज आपको जगाने वाली है। आपको पता नहीं चलेगा कि आपने क्या मारा है। यह हमें एक सबक सिखाता है कि हमें हर समय अंतिम घंटे के लिए तैयार रहना चाहिए।

ऐसा कोई गलत काम न करें, जिसे करते हुए मरने पर आपको पछताना पड़े। जितना हो सके अच्छे कर्म करो ताकि हमारा पैमाना इतना भारी हो कि हमें नर्क की आग से बचा सके।

3. अल्लाह का डर पैदा करना SWT

अल्लाह SWT का डर तब है जब आप अपने जीवन के बारे में जा रहे हैं और अल्लाह SWT की आज्ञाओं के अनुसार जीने का प्रयास कर रहे हैं। हर किसी को यह डर नहीं है क्योंकि सभी ने अल्लाह SWT के शब्दों पर ध्यान नहीं दिया है।

इन छंदों में जो शक्ति है वह सिर्फ चमत्कारी है। हमारे अल्लाह का भय हमारे दिलों में बसा हुआ है। यूं ही नहीं आता। लेकिन यह स्वाभाविक रूप से उस प्रेम के साथ हमारे अंदर लाया जाता है जो हम सर्वशक्तिमान के लिए विकसित करते हैं। हमारा विश्वास मजबूत हुआ है।

इसे पढ़ने के बाद हमें इस बात पर विचार करने की जरूरत है कि हमारे अंदर अल्लाह के लिए कितना डर ​​है? हम उससे कितना प्यार करते हैं? उसके और उसकी रचना के बारे में जानने के लिए अल्लाह के वचन को पढ़ें।

उनकी आज्ञाओं का पालन करें और उनके अंतिम दूत मुहम्मद SAW के मार्ग का अनुसरण करें। यह न केवल इस दुनिया में बल्कि अखिरा में भी सफल जीवन का मार्ग है।

जबकि हम अपने भविष्य को बेहतर बनाने में व्यस्त हैं, हमें यह नहीं भूलना चाहिए कि हमने अतीत में क्या किया है। हमें अपने पिछले गुनाहों को समझने और उनके लिए पश्चाताप करने की भी आवश्यकता है।

4. क़यामत के दिन कर्म सबसे भारी होंगे

अल्लाह SWT यहाँ एक सुंदर विपरीतता को आकर्षित करता है जब वह एक बार के भारी पहाड़ों के मूल्य और उन कार्यों के मूल्य का उल्लेख करता है जिन्हें आमतौर पर कम करके आंका जाता है। इन आयतों के बारे में इतना अविश्वसनीय क्या है कि भारी पहाड़ ऊन में फाड़े जाएंगे और भारहीन हो जाएंगे जबकि कर्म भारी होंगे। संसार में किए गए कर्म अमूर्त हैं लेकिन उस दिन उन्हें मूर्त का दर्जा दिया जाएगा।

इस दिन सब कुछ बदल जाएगा। हमारे लिए सबक यह है कि हमें किसी भी काम को बेकार नहीं समझना चाहिए। हम इस जीवन में अच्छे कर्मों के लिए पुरस्कृत नहीं होने जा रहे हैं जो हम करते हैं।

ऐसा करने के लिए हमारा मज़ाक भी उड़ाया जा सकता है क्योंकि वे उन लोगों के विचारों के विपरीत होंगे जो अपनी सांसारिक इच्छाओं का पीछा कर रहे हैं। हमारा इनाम अल्लाह SWT के पास है जो हमें क़यामत के दिन मिलेगा। यह न केवल बेहतर होगा बल्कि शाश्वत भी होगा।

5. नरक की आग

इस सूरह के अंतिम छंदों में, अल्लाह SWT नरक की भयानक आग का वर्णन करता है। सूरह अल क़रियाह से पहले और बाद में सूरह उन लोगों के प्रकार का वर्णन करता है जो इस आग के लायक हैं: क्रमशः अल अदियत और अत-ताकाथुर। मुहम्मद साहब ने एक जगह कहा है:

इस दुनिया में हम जिस आग को महसूस कर सकते हैं, वह त्वचा के संपर्क में आने पर कितनी दर्दनाक होती है। लेकिन अल्लाह ने नर्क की आग को 70 गुना ज्यादा तेज कर दिया है।

यह तुलना हमें यह महसूस करने के लिए पर्याप्त होनी चाहिए कि आख़िरत में दंड कितने बुरे हो सकते हैं। हमें अपने कर्मों को एक साथ रखने और खुद को उस आग से बचाने के लिए तैयार रहने की जरूरत है क्योंकि इस दुनिया को खुश करना बेकार है। यहाँ निर्णय के दिन हमारी विस्तृत पोस्ट है और यह कैसा होगा।

Surah Qariah Video Format with Urdu Translation




Tags:- Surah Qariah in Hindi PDF | Surah Qariah Ki Mp3 | सूरह क़ारिया को हिंदी में  | Kuran Surah 
NEXT ARTICLE Next Post
PREVIOUS ARTICLE Previous Post
NEXT ARTICLE Next Post
PREVIOUS ARTICLE Previous Post